बिहार भूलेख भूमि जानकारी ऑनलाइन @ Biharbhumi.bihar.gov.in

Bihar Bhulekh 2022-23 Khasra Khatauni Naksha Online @ Biharbhumi.bihar.gov.in | बिहार भूलेख भूमि जानकारी, बिहार भूमि रिकॉर्ड ऑनलाइन कैसे देखें | Bhulekh Bihar District Wise

केंद्र सरकार के राष्ट्रीय भूमि अभिलेख आधुनिकरण कार्यक्रम के तहत बिहार सरकार द्वारा अपने राज्य की भूमि के लेखे-जोखा को कंप्यूटराइज्ड करने के Bihar Bhulekh को शुरू किया है। इसके माध्यम से राज्य का कोई भी भूमि (जमीन) मालिक अपने जमीन का नक्शा, खतौनी, खसरा संख्या, ऑनलाइन जमाबंदी आदि देखने की प्रक्रिया ऑनलाइन कर सकते हैं। इसके अलावा बिहार भूलेख के माध्यम से जमीन मालिक अपने पुराने अभिलेखों में हुई गलतियों को भी ऑनलाइन माध्यम से सुधार सकते हैं। अगर आप बिहार के नागरिक हैं और Bhulekh Bihar से संबंधित संपूर्ण ब्यौरा प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अवश्य पढ़ें। क्योंकि आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बिहार सरकार द्वारा शुरू की गई भूलेखो की इस ऑनलाइन सुविधा के बारे में विस्तारपूर्वक बताने जा रहे हैं।

Bihar Bhulekh

Bihar Bhulekh 2022-23

बिहार सरकार द्वारा शुरू किया गया Bihar Bhulekh बिहार की जमीनों के लेखे-जोखे का प्रबंधन करने और उन्हें सुरक्षित करने के लिए तैयार किया गया एक डेटाबेस प्रणाली है। जिसके माध्यम से राज्य का कोई भी नागरिक एकत्रित किए गए भूमि रिकॉर्ड अपने घर बैठे ही आसानी से ऑनलाइन माध्यम से देख सकता है। इस सुविधा से पहले राज्य के भूमि मालिकों को अपनी भूमि से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते थे। लेकिन अब नागरिक केवल बिहार भू-लेख की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर केवल अपने सीरियल नंबर या अपने नाम का उपयोग करके बिहार भूलेख से जुड़ी विभिन्न प्रकार की जानकारी देख सकते हैं। साथ ही इस सुविधा के द्वारा राज्य के भू स्वामियों को ऑनलाइन प्रक्रिया से जोड़ देने से राज्य में डिजिटाइजेशन को बड़े स्तर पर बढ़ावा भी मिल रहा है।

Bihar Apna Khata 

बिहार भूलेख Features

लेख का विषय Bihar Bhulekh
किसके द्वारा शुरू की गई? बिहार सरकार
संबंधित विभाग राजस्व और भूमि सुधार विभाग
लाभार्थी राज्य के भूस्वामी यानी जमीन मालिक
उद्देश्य भूमि से जुड़े अभिलेखों एवं अन्य कई प्रकार की सुविधा एवं सेवाओं को ऑनलाइन प्रदान करना
साल 2022
अधिकारिक वेबसाइट biharbhumi.bihar.gov.in

Bihar Bhulekh के कार्य

राजस्व और भूमि सुधार विभाग, बिहार द्वारा शुरू किए गए बिहार भूलेख पोर्टल के माध्यम से निम्नलिखित कार्य किए जाते हैं। जिनका विवरण नीचे निम्नलिखित इस प्रकार है।

  • बिहार के भू स्वामियों से भू-राजस्व एकत्र करना
  • बिहार भूलेख का रखरखाव एवं अद्यतन करना
  • सार्वजनिक उद्देश्य के लिए भूमि अधिग्रहण
  • सरकारी भूमि का संरक्षण और पट्टा
  • जमीन का सर्वे करना
  • भूमि का सीमांकन करना
  • प्राकृतिक संसाधनों का प्रबंधन एवं नियंत्रण
  • राज्य सरकार और संस्थाओं के विभिन्न विभागों को सरकारी भूमि का हस्तांतरण करना
  • सड़क उपकार, शिक्षा उपकार, स्वास्थ्य उपकार आदि सहित भू राजस्व की वसूली करना

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना 

Bihar Bhulekh के लाभ

  • राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई बिहार भू-लेख सुविधा के माध्यम से राज्य के सभी जमीन मालिक (भूस्वामी) अपनी जमीन का विवरण ऑनलाइन देख सकते हैं।
  • इसके माध्यम से आसानी से नागरिक जमीन का नक्शा, खसरा/खतौनी संख्या, जमाबंदी नकल आदि ऑनलाइन देख सकते हैं।
  • भूस्वामी के पास उसकी भूमि से जुड़े सभी भूलेख उपलब्ध होने से वह बैंक से आसानी से ऋण भी ले सकता है।
  • इस सुविधा शुरू होने से नागरिक अपनी जमीन से जुड़े संपूर्ण विवरण प्राप्त करने का लाभ आसानी से अपने घर बैठे ही ले रहा है। जिससे उसे सरकारी दफ्तरों की लंबी-लंबी लाइनों में लगने से छुटकारा मिल गया है।
  • Bihar Bhulekh के माध्यम से राज्य के जमीन मालिकों के समय और पैसे दोनों की बचत हो रही है साथ ही सरकारी दफ्तरों की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता आ रही है।
  • राजस्व और भूमि सुधार विभाग द्वारा इस सुविधा के माध्यम से नागरिकों तक उनके भूमि अभिलेखों की जानकारी आसानी से पहुंचाई जा रही है।

बिहार भू-लेख से कौन-कौन से दस्तावेज डाउनलोड किए जा सकते हैं?

अंग्रेजी हिंदी और उर्दू भाषा में बिहार के भूमि जानकारी पोर्टल या Bihar Bhulekh से निम्नलिखित दस्तावेज डाउनलोड किए जा सकते हैं।

  • सामान्य बिक्री समझौता
  • बिक्री विलेख दस्तावेज़
  • फ्लैट का बिक्री समझौता
  • लीज़ अग्रीमेंट
  • पट्टा समझौता (खाली जमीन के लिए)
  • ऋण प्रसंविदा
  • कब्जे के साथ बंधक विलेख
  • पट्टा सुपुर्दगी विलेख (लीज सरेंडर डीड)
  • बिक्री द्वारा लीज होल्ड के अधिकार का हस्तांतरण (निर्माण भूमि संरचना)
  • मध्यस्थता विलेख
  • विनिमय विलेख
  • न्यास विलेख
  • वसीयतनामा विलेख
  • मुख्तारनामा
  • बंदोबस्ती विलेख
  • दत्तक विलेख
  • सुरक्षा बांड दस्तावेज़
  • पुरस्कार विलेख
  • साझेदारी विच्छेदन विलेख
  • साझेदारी विलेख
  • विभाजन विलेख
  • भोग बंधक से संबंधित विलेख
  • उपहार (मकान/जमीन) विलेख
  • रद्दीकरण विलेख
  • सुधार विलेख

बिहार बेरोजगारी भत्ता

Bihar Bhulekh के तहत भू-लेख जांचने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको भूमि जानकारी बिहार की अधिकारिक वेबसाइटपर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज को खुलकर जाएगा।
Bihar Bhulekh
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको Services के टैंब पर Search By Serial No. के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको Post Computerisation(2006 to till date) और Pre Computerisation (1996 to 2006) में से किसी एक पर अपनी आवश्यकतानुसार क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपको पूछे गए सभी विवरण जैसे- क्रमांक, पंजीकरण कार्यालय, वर्ष से, वर्ष तक की जानकारी दर्ज करके View के बटन पर क्लिक कर देना‌ है।
  • इस प्रकार से आप भूलेख जांच सकते हैं।

भू-लेख देखने का वैकल्पिक तरीका

  • सबसे पहले आपको इस आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको एक नक्शा दिखाई देगा।
  • इस नक्शे में से आपको अपने जिले पर क्लिक करना है।
  • अब आपको अपने क्षेत्र का चयन करना है और फिर मौजे का चयन करके अकाउंट सर्च के बटन पर क्लिक कर देना है
  • संबंधित जानकारी आपको अपनी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्राप्त हो जाएगी।

Bihar Bhulekh के तहत पार्टी नाम के माध्यम से भूलेख या भूमि रिकॉर्ड कैसे देखें?

  • सबसे पहले आपको भूमि जानकारी बिहार की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज को खुलकर जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको Services के टैंब पर Search By Party Name के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल कर आ जाएगा। जिस पर आपको Post Computerisation(2006 to till date) और Pre Computerisation (1996 to 2006) में से किसी एक पर अपनी आवश्यकतानुसार क्लिक करना है।
  • अब आपको पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे-पार्टी का नाम, वर्ष से, वर्ष तक, पार्टी का प्रकार (कार्यकारी/दावेदार/दोनों) की जानकारी दर्ज कर देनी है।
  • इसके बाद View के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप व्यू के बटन पर क्लिक करेंगे संबंधित जानकारी आपको अपनी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्राप्त हो जाएगी।

बिहार भूलेख पर भूमि का ऑनलाइन MVR देखने की प्रक्रिया

बिहार सरकार राज्य में प्रॉपर्टी किस जगह पर स्थित है उस आधार पर प्रॉपर्टी के न्यूनतम मूल्य का एक रजिस्टर तैयार करती है। बिहार भूलेख का मिनिमम वैल्यू रजिस्टर ( MVR) एक ऐसा साधन है जो बिहार में कहीं भी, उसकी स्थिति के आधार पर किसी भी भूखंड की लागत प्राप्त करने में नागरिक की सहायता करता है।

  • सबसे पहले आपको भूमि जानकारी बिहार की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर ही आपको View MVR का ऑप्शन दिखाई देगा। आप इस पर क्लिक कर दे।
  • अब आपके सामने अगला पेज खुल कर आ जाएगा। जिस पर आपको पंजीकरण कार्यालय, मंडल का नाम, थाने का कोड और भूमि का प्रकार की जानकारी दर्ज कर देनी है।
  • इसके बाद आप Advance Calculation पर क्लिक करें और भूमि लेनदेन का प्रकार,भूमि की कुल लागत और भूमि का क्षेत्र जैसे विवरण को दर्ज करे दे।
  • अब आप View Calculation के टैब पर क्लिक करें।
  • अब भूलेख का न्यूनतम मूल्य आपको अपनी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा।

Bihar Bhulekh पर फ्लैट MVR देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको Bihar Bhulekh की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको सर्विसेज के टैब के तहत फ्लैट के लिए एमवीआर पर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने अगला पेज खुल कर आ जाएगा।
  • जिस पर आपको कस्बा, मंडल का नाम, स्थानीय निकाय, संपत्ति का स्थान, थाने का कोड, अपार्टमेंट के भूखंड का क्षेत्रफल, अपार्टमेंट का समतल क्षेत्रफल, निर्माण का प्रकार, पार्किंग की जगह, सुपर बिल्ट अप एरिया, सड़क का प्रकार, भूमि का एमवीआर, निर्माण का एमवीआर आदि की जानकारी दर्ज कर देनी है।
  • इसके बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप सबमिट के बटन पर क्लिक करेंगे आपको फ्लैट के MVR का विवरण आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा।

भू-लेखो की वेब कॉपी कैसे प्राप्त करें?

  • सबसे पहले आपको भूमि जानकारी बिहार की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको‌ View Web Copy (WC) के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपको अपनी प्रॉपर्टी का विवरण जैसे- सीरियल डीड नंबर ,पंजीकरण कार्यालय, पंजीकरण वर्ष दर्ज करना है।
  • अब आपको सर्च वेब कॉपी के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप भूलखो की वेब कॉपी प्राप्त कर सकते हैं।

Bihar Bhulekh के तहत ऑनलाइन खसरा खतौनी देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको‌ जमा पंजी देखें के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने अगला पेज खुलकर आ जाएगा जिस पर पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारियां को ध्यानपूर्वक पढ़कर दर्ज कर देना है।
Bihar Bhulekh
  • इसके बाद सर्च के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार से आप जमाबंदी विवरण देख सकते हैं।

दाखिल खारिज के लिए आवेदन कैसे करें?

  • सर्वप्रथम आपको राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको ऑनलाइन दाखिल खारिज आवेदन करें के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने अगला पेज खुलकर आ जाएगा। यदि आप नए यूजर है तो आपको पंजीकरण टैब पर क्लिक करके अपना अकाउंट बनाना है।
दाखिल खारिज के लिए आवेदन
  • यदि आपका पहले से ही अकाउंट बना हुआ है तो अपनी ईमेल आईडी, पासवर्ड एवं कैप्चा कोड दर्ज करके साइन इन के बटन पर क्लिक कर दें।
  • इसके बाद आपके सामने एक और नया पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, पासवर्ड, पता, शहर/कस्बा/ गांव, जिला, राज्य और पिन कोड जैसे सभी विवरण दर्ज करने है।
  • अब आपको Registration Now के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप दाखिल खारिज के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

बदला हुआ म्यूटेशन केस नंबर देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की Official Website पर होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको सबसे ऊपर बदला हुआ म्यूटेशन केस नंबर देखें का विकल्प दिखाई देगा। इस पर आपको क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक पीडीएफ फाइल खुल कर आ जाएगी जिसमें हर जिले के बदले गए म्यूटेशन केस नंबर होंगे।
  • इस पीडीएफ फाइल में से अपने जिले का बदला हुआ म्यूटेशन केस नंबर दे सकते हैं।

बदले हुए एलपीसी केस नंबर कैसे देखें?

  • सर्वप्रथम आपको राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको बदला हुआ एलपीसी केस नंबर देखें के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक पीडीएफ फाइल खुलकर आ जाएगी जिसमें हर जिले के बदले हुए एलपीसी केस नंबर दिखाई देंगे।
  • इस पीडीएफ फाइल को स्क्रोल करके आप अपने जिला का बदला हुए एलपीसी केस नंबर देख सकते हैं‌

बिहार भूमि पर भू-लगान का ऑनलाइन भुगतान करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की Official Website पर होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको भू-लगान के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने अगला पेज खुलकर आ जाएगा।
बिहार भूमि पर भू-लगान
  • इस पेज पर आपको ऑनलाइन भुगतान करें पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक ओर नया पेज खुलकर आ जाएगा। जिस पर आपको अपने जिले, अंचल का नाम, हलका का का नाम, मौजा का नाम, पृष्ठ संख्या और सुरक्षा कोड जैसे विवरण दर्ज करने हैं।
  • इसके बाद खोजें के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप अपने भू लगान का ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं।

भू-लगान के विफल ट्रांजैक्शन की स्थिति देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की Official Website पर होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको भू-लगान के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपको लंबित भुगतान देखे के विकल्प पर क्लिक करना है ‌
  • इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुलकर आ जाएगा।
Bihar Bhulekh
  • इस पेज पर आपको अपनी ट्रांजैक्शन आईडी दर्ज करके वेरीफाई के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इस तरहां से आप भू- लगान की विफल ट्रांजैक्शन स्थिति देख सकते हैं।

एलपीसी के लिए कैसे आवेदन करें?

बिहार भूलेख पर एलपीसी भूमि कब्जा प्रमाण पत्र का संक्षिप्त रूप है। भूमि पर अपना स्वामित्व साबित करने के लिए एलपीसी प्रमाण पत्र एक वैध दस्तावेज के रूप में कार्य करता है।

  • सबसे पहले आपको राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की Official Website पर होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको ऑनलाइन एलपीसी आवेदन करें के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अगर आप नए उपयोगकर्ता है तो पंजीकरण बटन पर क्लिक करके अपना अकाउंट बना ले।
Bihar Bhulekh
  • अगर आपका पहले से ही अकाउंट बना हुआ है अपना ईमेल आईडी,  पासवर्ड एवं कैप्चा कोड दर्ज करके लॉगिन के बटन पर क्लिक करें।
  • लॉगइन करने के बाद आप बिहार भूलेख पर एलपीसी प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं।

परिमार्जन पोर्टल ‌बिहार

सुधार करने के लिए परिमार्जन हिंदी शब्द है‌। राज्य का कोई भी भूस्वामी अपने पुराने अभिलेखों में हुई गलतियों को सुधार सकता है। इसके लिए उसे Bihar Bhulekh पोर्टल पर जाकर परिमार्जन के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद वहीं से सीधे परिमार्जन पोर्टल की अधिकारिक वेबसाइट  parimarjan.bihar.gov.in खुलकर आ जाएगी। जिस पर आवेदक अपने भूलेखो में सुधार करने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। सफलतापूर्वक आवेदन करने के बाद पोर्टल पर उत्पन्न आवेदन आईडी को उपयोग करके अपने आवेदन को ट्रैक भी कर सकता है। इसके अलावा भू राजस्व विभाग के कर्मचारी आपसे संपर्क कर सकते हैं और आपके भूलेखों की गलतियों को सुधारने के लिए आपसे सहायक दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए कह सकते हैं। यानी परिमार्जन पोर्टल डिजिटल जमाबंदी रजिस्टर या भू-लेखों में गलती प्रविष्टियों में सुधार हेतु बिहार सरकार के भूमि राजस्व विभाग का एक ऑनलाइन पोर्टल है।

परिमार्जन पोर्टल पर किए जाने वाले संशोधन के प्रकार

इस पोर्टल पर निम्नलिखित प्रकार के संशोधन किए जा सकते हैं और संशोधन करने के लिए आपके पास निम्नलिखित आवश्यक दस्तावेज होने चाहिए।

संशोधन का प्रकार आवश्यक दस्तावेज़
रैयत नाम, पता में संशोधन (1) निर्धारित प्रारूप में आवेदन। (2) दाखिल-खारिज केस के आदेश की स्व-सत्यापित प्रति। (3) सुधार पर्ची की स्व-सत्यापित प्रति। (4) भू-लगान रसीद की स्व-सत्यापित प्रति। (5) नवीनतम अंतिम खटियान (CS /RS) की स्व-सत्यापित प्रति (6) वांछित प्रारूप में स्व-घोषणा।
खाता, खसरा, चौहद्दी और रकबा में संशोधन
लगान से जुड़ा विवरण में संशोधन
कम्प्यूटरीकरण के दौरान छूटी हुई जमाबंदियों का डिजिटलीकरण
ऑनलाइन दाखिल खारिज के मामलों के निस्तारण के बाद जमाबंदी में संशोधन की आवश्यकता
क्रेता, विक्रेता, जमाबंदी रैयत या खटियानी रैयत विवरण में जरूरी सुधार (1) ऑनलाइन दाखिल-खारिज के लिए प्रस्तुत दस्तावेज। (2) ऑनलाइन दाखिल-खारिज के लिए प्रस्तुत दस्तावेज। (3) म्यूटेशन के आदेश के मामले की स्व-सत्यापित प्रति। (4) सुधार पर्ची की स्व-सत्यापित प्रति।
लगान राशि/सीमा विवरण में सुधार की आवश्यकता
ऑनलाइन दाखिल खारिज मामलों के निस्तारण के बाद जमाबंदी में खाता/खसरा/रकबा में सुधार की आवश्यकता
जमाबंदी के खाता, खेसरा या रकबा विवरण में सुधार की आवश्यकता है। ऐसे में परिमार्जन पोर्टल के माध्यम से आवेदन करने का कोई विकल्प नहीं है। आवेदक को DCLR के समक्ष अपील दायर करने के लिए निर्देशित किया जाएगा।  DCLR के आदेश के बाद अंचल अधिकारी द्वारा पूर्व में पारित आदेश को निरस्त करते हुए संशोधित नामांतरण आवेदन के आधार पर दाखिल खारिज निष्पादित किया जाएगा।

Leave a Comment