GOBAR- Dhan Yojana 2022: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन स्टेटस

GOBAR- Dhan Yojana Online | गोबर-धन योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | गोबर-धन योजना एप्लीकेशन स्टेटस | GOBAR- Dhan Yojana In Hindi

गोबर-धन योजना को शुरू करने की घोषणा  पहली बार तत्कालीन एफएम अरुण जेटली ने 1 फरवरी 2018 को थी जिसको अब केंद्र सरकार के सहयोग से सुचारु रूप से आगे बढ़ाया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत देश के किसानो से गोबर और फसल अवशेषों को उचित दाम पर ख़रीदा जायेगा और इस योजना के तहत पशुओ  के मल ,गोबर अथवा खेतों के ठोस अपशिष्ट पदार्थ जैसे कि भूसा , पत्ते इत्यादि को कंपोस्ट, बायोगैस या बायो सीएनजी में परिवर्तित किया जायेगा।

प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस GOBAR- Dhan Yojana 2022 से जुडी सभी जानकारी जैसे पात्रता ,दस्तावेज़ ,आवेदन प्रक्रिया आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े और योजना का लाभ उठाये।

GOBAR- Dhan Yojana 2022 

इस योजना को गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना की कहा जाता है। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा देश के प्रत्येक ज़िले का एक गांव चुना जायेगा और प्रत्येक ज़िले में एक क्लस्टर का निर्माण करते हुए लगभग 700 क्लस्टर्स स्थापित किये जायेगे। GOBAR- Dhan Yojana 2022 के माध्यम से देश के किसानों और उनके परिवारों को आर्थिक और संसाधन लाभ भी प्रदान किया जायेगा साथ ही एक स्वच्छ गाँव बनाने का भी समर्थन करेगा।

इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकारु और राज्य सरकार दोनों 60 व 40 के अनुपात से फंड उपलब्ध  कराएगी। देश के जो किसान इस योजना का हिस्सा बनना चाहते है तथा अपनी आर्थिक स्थिति को सुधारना चाहते है तो उन्हें योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

गोबर-धन योजना

गोबर धन योजना जनवरी अपडेट

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सरकार द्वारा गोबर र्धन योजना को गो र्धन का उपयोग करने के लिए आरंभ किया गया है। शाहजहांपुर में गोबर र्धन योजना के अंतर्गत 90 मीटर टन की क्षमता का प्लांट स्थापित किया जाएगा। किसानों से गोबर खरीद कर इस प्लांट तक पहुंचाया जाएगा। 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की मन की बात में किसानों का आवाहन किया गया था।

जिसके बाद इस योजना के अंतर्गत काम में बढ़ोतरी की गई थी। गोबर र्धन योजना के अंतर्गत गोबर से बनने वाली मीथेन गैस को सीएनजी में कन्वर्ट किया जाएगा। जिसका इस्तेमाल इंधन के रूप में किया जाएगा। गोबर धन योजना की निगरानी राज्य स्तर पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में स्थापित की गई समिति द्वारा की जाएगी तथा इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुए गोबर को डीएम की अध्यक्षता में जिला स्तर पर बेचा जाएगा।

GOBAR- Dhan Yojana 2022 का संचालन पंचायती राज निदेशालय द्वारा किया जाएगा तथा पंचायती राज निदेशालय को ही गोवर्धन योजना की नोडल एजेंसी होगी। गोबर र्धन योजना के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी। इस योजना के माध्यम से बनाई गई बायोगैस से खाना पकाने और लाइटिंग के लिए इंधन प्राप्त होगा तथा स्वच्छता बनाए रखने में भी यह योजना लाभकारी साबित होगी।

Key Highlights Of GOBAR- Dhan Yojana 2022

योजना का नाम गोबर धन योजना
किस ने लांच की भारत सरकार
लाभार्थी भारत के नागरिक
उद्देश्य गौ धन का उपयोग करना
आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2022

गोबर-धन योजना 2022 का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है देश में बहुत अस्वच्छता फैली हुई है जिसका सबसे बड़ा उदाहरण है ग्रामीण क्षेत्र।  गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना 2022 के ज़रिये स्वच्छ गाँव बनाने में  समर्थन दिया जायेगा  जो स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) का उद्देश्य है।इस योजना के ज़रिये उद्यमियों को जैविक खाद, बायोगैस / बायो-CNG उत्पादन के लिये गाँवों के क्लस्टर्स बनाकर इनमें पशुओं का गोबर और ठोस अपशिष्टों के एकत्रीकरण और संग्रहण को बढ़ावा देना है।

इस योजना के अंतर्गत अब किसानो के पशुपो का गोबर लेकर बायोगैस में परिवर्तित किया जायेगा इस  स्वच्छ जैव गैस ईंधन से ग्रामीण लोगों और विशेष रूप से महिलाये लाभान्वित होगी। इस योजना के माध्यम से देश की किसानो की आय भी दुगुनी होगी। इस योजना का उद्देश्य देश को स्वच्छ रखना।इस योजना के ज़रिये ग्रामीण क्षेत्रो के किसानो को आत्मनिर्भर बनाया  जा सकेगा।

गोबर धन योजना के स्टेक होल्डर

  • डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चरल रिसर्च एंड एजुकेशन
  • डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर, कोऑपरेशन एंड फार्मर्स वेलफेयर
  • मिनिस्ट्री ऑफ न्यू एंड रिन्यूएबल एनर्जी
  • डिपार्टमेंट ऑफ रूरल डेवलपमेंट
  • मिनिस्ट्री ऑफ पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस
  • डिपार्टमेंट ऑफ ड्रिंकिंग वॉटर एंड सैनिटेशन
  • डिपार्टमेंट ऑफ एनिमल हसबेंडरी एंड डेयरिंग

गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत पशुओं के मल अथवा खेतों के ठोस अपशिष्ट पदार्थ जैसे कि भूसा , पत्ते इत्यादि को कंपोस्ट, बायोगैस या बायो सीएनजी बनाने के लिए उपयोग किया जायेगा।
  • गोबर-धन योजना 2022 का लाभ देश के ग्रामीण क्षेत्रो के किसानो को पहुंचाया जायेगा।
  • देश में इस योजना के आरम्भ होने से प्रदुषण काम होगा और किसानो की आय में भी बढ़ोतरी होगी।
  • इस योजना के तहत किसानो से उनके पशुओ का गोबर और खेतो के ठोस अपशिष्ट पदार्थो को खरीदकर  बायोगैस में परिवर्तित किया जायेगा।
  • किसानो की आय दुगुनी करने के लिए केंद्र सरकार ने गोबर-धन योजना 2022 के तहत एक ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है जिस पर ग्रामीण क्षेत्रो के किसानो को  पंजीकरण करना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रो में गोबर से बायोगैस प्लांट व्यक्तिगत, सामुदायिक, सेल्फ हेल्प ग्रुप या गोशाला जैसे एनजीओ के स्तर पर स्थापित किए जा सकते हैं।

Gobar  Dhan Yojana 2022 की विशेषताएं

  • गांव के किसान अपने खेतों में इस ठोस कचरे और गोबर का उपयोग कर सकते हैं और इसे खाद, उर्वरक, जैव-गैस और जैव-ईंधन के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं।
  • केंद्र सरकार ने गांवों में विभिन्न स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र खोलने, ग्रामीण व्यापार केंद्रों के लिए बुनियादी ढांचे में सुधार, गांवों और शहरों के बीच बेहतर संपर्क और उच्च शिक्षा के लिए केंद्र बनाने के लिए अन्य निर्णय भी ले रही है।
  • केंद्र सरकार के इस कदम से ग्रामीण क्षेत्रो में भी स्वच्छता देखने को मिलेगी जिससे बीमारिया कम होगी। और पशुओं और अन्य प्रकार के जैविक अपशिष्ट से अतिरिक्त आय तथा ऊर्जा उत्पन्न होगी।
  • इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार ने 115 जिलों की पहचान की है जिसमे विभिन्न सामाजिक सेवाओं में निवेश किया जायेगा और उन्हें रोल मॉडल के रूप में विकसित किया जायेगा।

गोबरधन योजना के अंतर्गत डिस्ट्रिक्ट प्लान

  • प्रत्येक जिले में कम से कम एक मॉडल परियोजना होनी चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत बायोगैस प्लांट को गौशाला, वेजिटेबल मार्केट, संस्थान धार्मिक स्थल, फैक्ट्री आदि के पास बनाया जा सकता है जहां पर भी गोबर उपलब्ध हो।
  • बायोगैस प्लांट उन घरों में भी लगाया जा सकता है जहां पर पशु उपलब्ध है।
  • पहाड़ी इलाकों में भी बायोगैस प्लांट लगाया जा सकता है।

गोबरधन योजना का कार्यान्वयन

  • ग्राम पंचायत द्वारा इंडिविजुअल बायोगैस प्लांट गांव के उन घरों में लगाया जाएगा जहां पर 5 से अधिक पशु हैं।
  • ऐसे घरों में 1- 3 m³ का बायोगैस प्लांट लगाया जाएगा।
  • यदि किसी ग्राम पंचायत में ज्यादा पशु है तो इस स्थिति में एक सामान्य बायोगैस प्लांट लगाया जाएगा जिसकी कैपेसिटी 4-10 m³ होगी।
  • जिलों में इस योजना का कार्यान्वयन एजेंसी के माध्यम से किया जाएगा।
  • एजेंसी के पास न्यूनतम 3 वर्ष का अनुभव होना अनिवार्य है।
  • इस योजना की निगरानी डीडब्ल्यूएससी द्वारा जिला स्तर पर की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत लगाए गए सभी प्लांट की निगरानी प्रत्येक 4 महीने में की जाएगी।
  • निगरानी की रिपोर्ट नेशनल आईएमआईएस पोर्टल पर की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत सभी प्रोजेक्ट का प्रतिवर्ष ऑडिट किया जाएगा।

बायोगैस प्लांट के लिए स्थल का चयन

  • बायोगैस प्लांट की स्थापना भूमि गत की जाएगी जिससे कि गैस होल्डर में कोई दरार ना आए।
  • प्लांट को खुली जगह में इंस्टॉल किया जाएगा।
  • बायोगैस प्लांट के पास कोई भी पेड़ पौधे नहीं होने चाहिए।
  • प्लांट को रसोई घर एवं पशु शेड के पास लगाने का प्रयास किया जाएगा।
  • बायोगैस प्लांट को घर की नीव से लगभग 2 मीटर दूर इंस्टॉल किया जाएगा जिससे कि घर की नींव में कोई दरार ना आए।
  • प्लांट को ऐसे स्थल पर इंस्टॉल किया जाएगा जहां पर आसपास पानी ना हो।

बायोगैस प्लांट साइज

बायोगैस प्लांट की कैपेसिटी (m³) पशुओं की संख्या गोबर की मात्रा (kg) खाना बनाने के लिए व्यक्तियों की संख्या
1 2-3 25 2-3
2 3-4 50 4-5
3 5-6 75 7-8
4 7-8 100 10-11
6 10-12 150 11-16

गोबर धन योजना स्टैटिसटिक्स

Application/DPR Received 341
Application/DPR Awaiting Approval 198
Number of villages where application/DPR Received 320
Application/DPR Approved 118
Application/DPR Approved by block 170
Application/DPR Rejected 14
Number of STAC Formed 23
Total Number of Technical Agency Empanelled 130

गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज (GOBAR- Dhan) धन योजना के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक देश के ग्रामीण क्षेत्रो का होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत केवल किसानो को ही पात्र माना जायेगा।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

गोबर-धन योजना 2022 में ऑनलाइन आवेदन कैसे ?

देश के जो ग्रामीण क्षेत्रो के इच्छुक लाभार्थी गोबर-धन योजना 2022 के अंतर्गत  आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे और योजना का लाभ उठाये।

  • सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
गोबर-धन योजना
  • इस होम पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
गोबर-धन योजना आवेदन
  • इस पेज पर आपको एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे पर्सनल डिटेल्स , एड्रेस  डिटेल्स , रजिस्ट्रेशन  डिटेल्स आदि भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा। सबमिट के बटन पर क्लिक करने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जायेगा।
  • इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन संख्या प्राप्त होगी जिसको आपको भविष्य के लिए सुरक्षित रखना होगा।

गोबर-धन योजना लॉगिन कैसे करे ?

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा। इस होम पेज पर आपको लॉगिन का लिंक दिखाई देगा।
Gober Dhan Yojana Login
  • आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा। लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। इस पेज पर आपको लॉगिन फॉर्म दिखाई देगा।
  • आपको इस लॉगिन फॉर्म में यूजरनाम और पासवर्ड आदि भरना होगा और कैप्चा कोड डालकर लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा। इस तरह आपका लॉगिन हो जायेगा।

यूजर मैनुअल डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको पेयजल और स्वच्छता विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको यूजर मैन्युअल के टैब पर क्लिक करना होगा।
Gobar Dhan Yojana
  • अब आपके सामने यूजर मैनुअल खुलकर आ जाएगा।
  • आप इसे डाउनलोड करके प्रिंट भी कर सकते हैं।

रिसोर्सेस से संबंधित जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको गोबरधन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको रिसोर्सेस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
Gobar Dhan Yojana
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको लेवल का चयन करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

टेक्निकल एजेंसी से संबंधित जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको गोबरधन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको इंफॉर्मेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
टेक्निकल एजेंसी से संबंधित जानकारी
  • इसके पश्चात आपको टेक्निकल एजेंसी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
टेक्निकल एजेंसी से संबंधित जानकारी
  • अब आपको राज्य का चयन करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

सपोर्ट एजेंसी से संबंधित जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको गोबरधन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको इंफॉर्मेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
गोबर-धन योजना
  • अब आपको सपोर्ट एजेंसी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
सपोर्ट एजेंसी से संबंधित जानकारी
  • आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप सपोर्ट एजेंसी से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

पब्लिसिटी मेटेरियल डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको गोबरधन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको इंफॉर्मेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
Gobar dhan yojana
  • इसके पश्चात आपको पब्लिसिटी मेटेरियल के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
पब्लिसिटी मेटेरियल डाउनलोड
  • अब आपको अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प का चयन करना होगा।
  • पब्लिसिटी मटेरियल से संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

फंडिंग सोर्सेस से संबंधित जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको गोबरधन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको इंफॉर्मेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
गोबर-धन योजना
  • अब आपको फंडिंग सोर्सेस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
फंडिंग सोर्सेस से संबंधित जानकारी
  • इसके बाद आपको क्लिक टू व्यू के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

संपर्क विवरण देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको गोबरधन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको कांटेक्ट अस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
संपर्क विवरण
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप संपर्क विवरण देख सकते हैं।

Leave a Comment