Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana 2022: एप्लीकेशन फॉर्म, पात्रता व कार्यान्वयन प्रक्रिया

Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana Online Registration | मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना एप्लीकेशन फॉर्म | Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana Status| निशुल्क दवा योजना कार्यान्वयन प्रक्रिया

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं हमारे देश में कई नागरिक ऐसे हैं जो आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण दवाइयां खरीदने में सक्षम नहीं है। ऐसे सभी नागरिकों के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है। इन योजनाओं के माध्यम से निशुल्क दवाइयां उपलब्ध करवाई जाती है। राजस्थान सरकार भी ऐसी ही एक योजना का संचालन करती है। जिसका नाम मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के नागरिकों को निशुल्क दवाएं उपलब्ध करवाई जाती है। इस लेख के माध्यम से आपको Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana से संबंधित संपूर्ण ब्यौरा प्रदान किया जाएगा। आप इस लेख को पढ़कर निशुल्क दवा स्कीम के अंतर्गत आवेदन करने से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। इसके अलावा आपको मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना 2022 का उद्देश्य, विशेषताएं, लाभ, पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज से संबंधित जानकारी भी प्रदान की जाएगी।

Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana 2022

राजस्थान के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से राजकीय चिकित्सालयों में आने वाले सभी अंतरंग एवं बहिरंग रोगियों को आवश्यक दवा सूची में सम्मिलित दवाइयां निशुल्क उपलब्ध करवाई जाएंगी। इस योजना को सरकार द्वारा 2 अक्टूबर 2011 को आरंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत सभी चिकित्सा संस्थानों में दवा वितरण करने के लिए जिला मुख्यालय पर 40 जिला औषधि भंडार ग्रह स्थापित किए गए हैं। दवा सूची में 713 प्रकार की दवाइयां, 181 सर्जिकल एवं 77 सूचर्स को सम्मिलित किया गया है। लगभग 971 औषधियां निशुल्क इस योजना के माध्यम से उपलब्ध करवाई जाएंगी।

केंद्रीय एजेंसी के रूप में राजस्थान मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन का गठन चिकित्सा विभाग एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के लिए औषधि, सर्जिकल एवं सूचर्स के क्रय हेतु किया गया है। इसके अलावा आउटडोर रोगियों के लिए दवा वितरण केंद्र ओपीडी के समयानुसार सुनिश्चित किया जाएगा। इंडोर एवं आपातकालीन मरीजों के लिए दवा की उपलब्धता 24 घंटे सुनिश्चित करवाई जाएगी। यदि किसी कारणवश दवाइयों की अनुपलब्धता होती है तो इस स्थिति में राज्य चिकित्सालयों की मांग अनुसार स्थानीय क्राय कर दवाइयां उपलब्ध करवाई जाएंगी।

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राजकीय चिकित्सालय में आने वाले सभी अंतरंग एवं बहिरंग रोगियों को आवश्यक दवा सूची में सम्मिलित दवाई निशुल्क उपलब्ध करवाना है। अब वह सभी नागरिक जो आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण दवाई नहीं खरीद सकते थे उनको दवाई प्रदान की जाएगी। जिससे कि उनके स्वास्थ्य में सुधार आएगा। यह Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana प्रदेश के नागरिकों के जीवन स्तर में भी सुधार लाएगी। इसके अलावा इस योजना के संचालन से देश के नागरिक सशक्त एवं आत्मनिर्भर भी बनेंगे। इस योजना के माध्यम से 24 घंटे दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। जिससे कि कोई भी जरूरतमंद नागरिकों दवाओं से वंचित नहीं रहेगा।

Key Highlights Of Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana 2022

योजना का नाम मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना
किसने आरंभ की राजस्थान सरकार
लाभार्थी राजस्थान के नागरिक
उद्देश्य निशुल्क दवा उपलब्ध करवाना
आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2022
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन/ऑफलाइन
राज्य राजस्थान

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • राजस्थान के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा मुख्यमंत्री निशुल्क दवा का शुभारंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से राजकीय चिकित्सालयों में आने वाले सभी अंतरंग एवं बहिरंग रोगियों को आवश्यक दवा सूची में सम्मिलित दवाइयां निशुल्क उपलब्ध करवाई जाएंगी।
  • मुख्यमंत्री निशुल्क दवा को सरकार द्वारा 2 अक्टूबर 2011 को आरंभ किया गया था।
  • इस योजना के अंतर्गत सभी चिकित्सा संस्थानों में दवा वितरण करने के लिए जिला मुख्यालय पर 40 जिला औषधि भंडार ग्रह स्थापित किए गए हैं।
  • दवा सूची में 713 प्रकार की दवाइयां, 181 सर्जिकल एवं 77 सूचर्स को सम्मिलित किया गया है।
  • Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana के माध्यम से लगभग 971 औषधियां निशुल्क उपलब्ध करवाई जाएंगी।
  • केंद्रीय एजेंसी के रूप में राजस्थान मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन का गठन चिकित्सा विभाग एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के लिए औषधि, सर्जिकल एवं सूचर्स के क्रय हेतु किया गया है।
  • आउटडोर रोगियों के लिए दवा वितरण केंद्र ओपीडी के समयानुसार सुनिश्चित किया जाएगा।
  • इसके अलावा इंडोर एवं आपातकालीन मरीजों के लिए दवा की उपलब्धता 24 घंटे सुनिश्चित करवाई जाएगी।
  • यदि किसी कारणवश दवाइयों की अनुपलब्धता होती है तो इस स्थिति में राज्य चिकित्सालयों की मांग अनुसार स्थानीय क्राय कर दवाइयां उपलब्ध करवाई जाएंगी।

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना की वित्तीय प्रगति

वित्तीय वर्ष 2021-22
राज्य निधि (प्रावधान) 790 करोड
केंद्रीय सहायता (प्रावधान) 360 करोड़
योग (प्रावधान) 1150 करोड़
राज्य निधि (व्यय) 377.49 करोड़
केंद्रीय सहायता (व्यय) 116.17 करोड़
योग (व्यय) 493.66 करोड़

नोट: इस योजना के अंतर्गत 2021-22 में 600 करोड़ रुपए का प्रावधान है जिसमें राज्य का 40% एवं केंद्र का 60% हिस्सा है।

पात्रता तथा दस्तावेज़

  • आवेदक राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक अंतरंग एवं बहिरंग रोगियों में शामिल होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • शुल्क की रसीद
  • ईमेल आईडी आदि

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नजदीकी चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कार्यालय में जाना होगा।
  • अब आपको वहां से मुख्यमंत्री निशुल्क दवा आवेदन पत्र प्राप्त करना।
  • इसके पश्चात आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करना होगा।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को आवेदन पत्र के साथ अटैच करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको यह आवेदन पत्र कार्यालय में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे।

संपर्क विवरण

  • विभाग – चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग
  • फोन नंबर – 9887027251

Leave a Comment